Krishna Gupta

New Voice

16 Posts

38 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 6615 postid : 62

इस्लामी टोपी बनाम जनेऊ

Posted On: 30 Sep, 2011 पॉलिटिकल एक्सप्रेस में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

सद्भावना उपवास के दौरान नरेन्द्र मोदी ने मौलाना हजरत सूफी इमाम शाही सैयद मेंहंदी हुसैन की ओर से पेश की गई इस्लामी टोपी को पहनने से इंकार कर दिया | और कहा कि “मुझे इस सम्मान से दूर ही रखें |”
देश की नंबर एक हिंदी / अंग्रेजी साप्ताहिक पत्रिका एवं कुछ अन्य बुद्धिजीवी महानुभावों की निगाह में मोदी ने अपराध किया है | यह अपराध इतना बड़ा है कि नरेन्द्र मोदी की प्रधानमंत्री पद की दावेदारी कमजोर पद गई है, क्यों कि उन्होंने एक अदद इस्लामी टोपी पहनने से इंकार कर दिया |
इस देश में हिन्दुओं को सामान्य नागरिक एवं मुसलमानों को वोट – बैंक माना जाता है | इसी वजह से लगभग सभी पार्टियों के नेता मुसलमानों की तुष्टीकरण में लगे रहते है | रमजान के मौके पर इफ्तार पार्टियों का आयोजन किया जाता है | यहाँ तक कि भारत के प्रधानमंत्री की ओर से भी | लेकिन जैसा कि डा कुमार विश्वास ने कहा था , “किसी भी नेता को पवित्र नवरात्रों में इतनी भी फुर्सत नहीं मिलती कि हिन्दुओं को बुलाकर उनके व्रत का परायण करा दे |”
आजकल नवरात्र चल रहे हैं | लेकिन कोई भी नेता हिन्दुओं के लिए “फलाहार – पार्टी” का आयोजन नहीं करेगा | वह सोच भी नहीं सकता | क्यों कि उस पर तुरंत ही भगवा ब्रिगेड में शामिल होने का आरोप लग जायेगा |
नरेन्द्र मोदी ने टोपी वापिस कर दी तो बताया जा रहा है कि वह इस्लाम के खिलाफ हैं | लेकिन यदि उसी मंच पर इमाम मेंहदी को मोदी ने रोली लगवा कर जनेऊ धारण करने को कहा होता, तो क्या वह इसे स्वीकार कर लेते ??
भारत के ढेर सरे नेता मुस्लिमों को रिझाने के लिए मुस्लिमो के साथ हरी पगड़ी (जो अटल जी ने भी पहनी थी ) या इस्लामी टोपी पहने नजर आते है | मगर क्या कभी कोई इस्लामिक लीडर हिन्दुओं के भीच माथे पर टिका लगा कर अथवा राम – नामी चादर ओढ़े हुए नजर आया है ??

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (4 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

3 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Santosh Kumar के द्वारा
September 30, 2011

कृष्णा भाई जी ,.नमस्कार सही पोस्ट ,..मैं भरोदिया भाई जी के कथन सर १६ आना सहमत हूँ ,..कभी कभी मेरे ब्लाग पर भी …. http://santo1979.jagranjunction.com/

bharodiya के द्वारा
September 30, 2011

क्रिष्नाभाई नमस्कार भले आना नही रहा पर आप की बात १६ आना सच है ।


topic of the week



अन्य ब्लॉग

  • No Posts Found

latest from jagran