Krishna Gupta

New Voice

16 Posts

38 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 6615 postid : 53

अन्ना हजारे -- देशभक्त या देशद्रोही ??

  • SocialTwist Tell-a-Friend

जैसा कि ख़बरों में आया है कि अन्ना हजारे से मिलने के लिए पाकिस्तान से एक प्रतिनिधि मंडल उनके गाँव पहुचा | उसने अन्ना को पाकिस्तान आने का न्योता भी दिया | जिसे अन्ना ने स्वीकार कर लिया है |

आना हजारे उस शख्स का नाम है, जिसने वर्षों बाद भारत की आत्मा झिझोड़ने का काम किया है | एक अकेला चना भी भाद फोड़ सकता है, यह उन्होंने दिखा दिया | लेकिन अब वही अन्ना पाकिस्तान जाने वाले है | ख़बरों में है कि वे वहा पर भी भ्रष्टाचार के खिलाफ काम करेंगे |

अन्ना के प्रशंसकों से कुछ प्रश्न –

१: क्या अन्ना को मालूम नहीं कि पाकिस्तान वह देश है जो भारत से नफरत के दम पर जिन्दा है?
२: क्या अन्ना को मालूम नहीं कि कसाब पाकिस्तानी है जिसके हाथ भारतियों के खून से सने है ?
३: क्या अन्ना को मालूम नहीं कि भारत में होने वाले हर धमाके के तार पाकिस्तान से जुड़ते है ?

पाकिस्तान जा कर अन्ना क्या करेंगे ??

1:भारत को नेस्तनाबूत करने के उद्देश्य से बटोरे गए चंदे के रुपयों से ख़रीदा हुआ खाना खायेंगे ??
२: या फिर भारत को बर्बाद करने के उद्देश्य में लिप्त लोगों से पानी जय – जयकार कराएँगे ??


मै अन्ना को देशभक्त मानता था | अब अन्ना ही बताये, क्या उनके पाकिस्तान जाने के बाद मेरी यह सोच कायम रहेगी ??

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

7 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Santosh Kumar के द्वारा
September 26, 2011

प्रिय कृष्ण जी ,.नमस्कार मैं चातक जी, भरोदिया जी और अशोक जी के विचारों से सहमती प्रकट करते हुए सिर्फ इतना कहना चाहता हूँ ,.कि पहले अपनी लड़ाई को किसी मुकाम तक पहुंचा कर जाते तो उचित होता ,..यदि पाकिस्तानी जनता को उनकी जरूरत है तो वहां पहले एक आन्दोलन खड़ा करें ,…..अपने हुक्मरानों के खिलाफ

bharodiya के द्वारा
September 26, 2011

कृष्ण जी, अगर अन्ना इन्टर नॅशनल बनते हैं तो क्या हर्ज है । माना की उनकी यहां ज्यादा जरूरत है । साजिशें हो रही है लोकपाल नकारने की । लेकिन हर बार, हर जगह अन्ना ही क्यों । दूसरी ब्रीगेड को भी काम करने दो । . आज भारत पाकिस्तान ही नही सारी दुनिया परेशान है भ्रष्टाचार से । सब देश दिवालिये हो गये है, ऐसा नही है की सब ने अपनी अपनी करंसी को जला दिया है । पैसे तो है सब देश के पास लेकिन सरकारों के खातों में नही, भ्रष्ट नेताओं और कम्पनियों के खातों में । आम आदमी और सरकार माईनस में है । नेता और उध्योग वाले लोगों का खून पी गये है सब जगह । अच्छा है अन्ना भारत सरकार का नही भारत की जनता का नाम रोशन करेंगे ।

chaatak के द्वारा
September 25, 2011

कृष्ण जी, मेरी हार्दिक इच्छा है कि आपकी सोच कि अन्ना देशभक्त हैं बनी रहे क्योंकि विश्वास का टूटना सबसे बुरा होता है, साथ ही मेरी यह भी इच्छा है कि अन्ना पाकिस्तान जरूर जाएँ ताकि वहां की नापाक बुद्धि में भी कुछ अच्छे विचार पनप सकें. अन्ना ने भ्रष्टचार के विरुद्ध जो अभियान छेड़ा है वह जितना व्यापक होगा सभी के हित में होगा जब पाकिस्तानी ये जान पायेंगे कि भारत के विरोध का झुनझुना आवाम को पकड़ा कर वहां भी नेता ऐश कर रहे हैं तो वे भी संगठित होकर पहले अपने अन्दर के भ्रष्टाचार को मिटने की कोशिश करेंगे और निश्चित रूप से उनका मोह आतंकवाद से भंग होगा. एक और बात हम अपने घर में सबसे ज्यादा सफाई कहाँ करते हैं? जहां सबसे ज्यादा गंदगी होती है- टायलेट में! और पाकिस्तान इस समय एशिया का टायलेट बन चुका है. इसलिए आना की हमसे ज्यादा जरूरत पाकिस्तान को है. शुभम मंगलम !

    Krishna Gupta के द्वारा
    September 25, 2011

    प्रिय चातक जी मै सहमत हूँ कि पाकिस्तान टायलेट बन चुका है | मगर मै आपसे पूछता हूँ कि हम भारतीय ही क्यों सफाई – कर्मी बनें ?? दुनिया में 243 देश हैं, जिनमे से 196 संयुक्त राष्ट्र संघ के सदस्य है | इतने सारे देशों में भारत को पाकिस्तान से ही दोस्ती रखने कि क्या जरुरत है ?? क्या एक मुल्क हमारा सदा का शत्रु नहीं हो सकता ??

akraktale के द्वारा
September 25, 2011

कृष्ण जी क्षमा करें मगर अन्ना यदि पाकिस्तान में जाग्रति फ़ैलाने जा रहे हैं तो कुछ गलत नहीं कर रहे हैं.मैंने अभी यह समाचार नहीं पढ़ा आपके माध्यम से ही मालूम हुआ है. किन्तु मुझे यकीं है अन्ना वहां आई एस आई के बुलाने पर तो नहीं जा रहे होंगे और न ही किसी आतंकी गुट के बुलाने पर.

    Krishna Gupta के द्वारा
    September 25, 2011

    प्रिय मित्र मुझे नहीं लगता की पाकिस्तान में आतंकवादियों के आलावा सामान्य लोग भी रहते होंगे | वह ऐसा मुल्क है जो हर हालत में भारत को बर्बाद देखना चाहता है | अन्ना के साथ देश की भावना जुडी है | उनको हर कदम सोच कर उठाना चाहिए |

    akraktale के द्वारा
    September 26, 2011

    आदरणीय नमस्कार, मै समझ रहा हूँ आप बहुत ही आहत हैं. शायद आप कि पाकिस्तानियों से बिलकुल भी मित्रता नहीं है वर्ना आपको ये मालूम होता कि पाकिस्तान के आम नागरिक कि भारतवासियों के प्रति क्या भावनाए हैं. पाकिस्तान को समझना बहुत आसान नहीं है. वहां आम जनता, राज नेता और सेन्य तंत्र तीनो अंग अलग विचारधारा रखते हैं. राजनेता और सेन्य तंत्र के बारे में तो आपको समाचारों से मालूम हो जाता है किन्तु आम जनता कि खबरे आप तक नहीं पहुंचती इसलिए आप को सभी पाक वासी आतंकवादी ही नजर आते हैं. कृपया वहां कि आम जनता के बारे में जानकारी करें शायद आपको हकीकत का एहसास हो जायेगा.


topic of the week



अन्य ब्लॉग

  • No Posts Found

latest from jagran